अब नहीं मिलेगा आयकर रिटर्न भरने के लिए अतिरिक्त दिन

अब नहीं मिलेगा आयकर रिटर्न भरने के लिए अतिरिक्त दिन

नई दिल्ली: वित्त वर्ष 2016-17 के लिए आयकर रिटर्न दाखिल करने के लिए 31 जुलाई यानी सोमवार आखिरी दिन है और इसकी समयसीमा आगे बढ़ाने का कोई प्रस्ताव नहीं है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘आयकर रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तिथि 31 जुलाई है. इसे बढ़ाने का प्रस्ताव नहीं है. विभाग के पास इलेक्ट्रॉनिक रूप में पहले ही दो करोड़  से अधिक रिटर्न दाखिल किए जा चुके हैं. विभाग ने करदाताओं से समय पर रिटर्न दाखिल करने की अपील की है.’

ई – फाइलिंग की वेबसाइट पर कुछ समस्याए आने के बारे में अधिकारी ने कहा कि विभाग की वेबसाइट पर कोई बड़ी गड़बड़ी नहीं देखी गई, सिर्फ कुछ समय के लिए इस पर रखरखाव के चलते व्यवधान देखा गया था.

वहीं, आयकर विभाग इनकम टैक्स मामलों की जांच के लिए केंद्रीयकृत प्रकोष्ठ स्थापित करने की तैयारी कर रहा है. इसका मकसद करदाता और टैक्स अधिकारी के आमना-सामना की जरूरत कम करना है. इससे भ्रष्टाचार पर अंकुश में भी मदद मिलेगी.

यह प्रस्तावित प्रकोष्ठ केंद्रीय प्रसंस्करण केंद्र (सीपीसी) की तर्ज पर होगा. सीपीसी बेंगलुरु में है और यह आयकर रिटर्न की प्रोसेसिंग करता है. राजस्व विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि विभाग करदाता तथा अधिकारियों के बीच आमने-सामने के संपर्क को कम करना चाहता है. इसी के मद्देनजर विभाग की सीपीसी स्थापित करने की योजना है.

source: ndtv

 

Advertisements

कांग्रेस ने कहा हमारे विधायकों को दी गई थी 15 करोड़ की लालच

विधानसभा चुनावों में मिली जीत पर ट्रंप ने मोदी को दी बधाई

अमेरिकी राष्ट्रपति डाॅनल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फोन करके विधानसभा चुनावों में कामयाबी के लिए बधाई दी है। यह सूचना वाइट हाउस द्वारा दी गई है। प्रेस सेक्रटरी शॉन स्पाइसर ने मीडिया को बताया कि ट्रंप ने मोदी को चुनावों में मिली हालिया सफलता के लिए बधाई दी। ट्रंप ने जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल को भी फोन किया और क्षेत्रीय चुनावों में उनकी पार्टी को मिली कामयाबी के लिए बधाई दी।

 

पिछले महीने 4 फरवरी से पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हुए थे जो 9 मार्च को संपन्न हुए। पीएम मोदी की पार्टी बीजेपी ने चार राज्योंण् उत्तर प्रदेशए उत्तराखंडए गोवा और मणिपुर में सरकार बनाई। हालांकि पंजाब में बीजेपी को मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस से हार का सामना करना पड़ा। विधानसभा चुनावों का नेतृत्व खुद पीएम मोदी और उनके करीबी अमित शाह कर रहे थे। शायद इनके कुशल नेतृत्व का ही असर था कि उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में बीजेपी ने तीन चौथाई बहुमत से सरकार बनाई।

उत्तर प्रदेश की सत्ता को देश की राजनीति में काफी अहम माना जाता है। यहां बीजेपी को 15 साल के बाद सरकार बनाने में कामयाबी मिली है। इससे पहले यूपी में बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी का ही दबदबा रहा है। गोवा और मणिपुर मे भी बीजेपी सरकार बनाने में कामयाब रही। नोटबंदी जैसे बड़े फैसले के बाद बीजेपी को विधानसभा चुनावों में मिली कामयाबी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता से जोड़कर देखा जा रहा है।

‘यूपी के लड़को’ की उम्र के बीच फंस गया मैं- योगी

उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी आदित्यनाथ पहली बार मंगलवार को दिल्ली पहुंचे। जहां उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष  अमित शाह से मुलाकात की। मुलाकात करने के बाद योगी आदित्यनाथ लोकसभा भी पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कहा कि दुनिया में कहीं भी जहां चुनाव हुए हैं लोग मोदी को सीएम के तौर पर सामने रखते हैं। लोग भारत से विकास का ढांचा देखने और समझना चाहते हैं। योगी ने लोकसभा में बोलते हुए कहा कि मैं पीएम और अपनी पार्टी का आभारी हूं।

योगी आदित्यनाथ ने इस दौरान विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि मैं आदरणीय राहुल जी से एक साल छोटा हूं और उम्र में अखिलेश से एक साल बड़ा हूं। मैं दोनों की जोड़ी के बीच में जो आ गया यही आप की विफलता का बड़ा कारण हो सकता है। योगी ने इस दौरान संसद में मौजूद सभी सांसदों और मंत्रियों को यूपी आने के लिए आमंत्रित किया। योगी ने कहा कि आने वाले समय में यूपी दंगा मुक्त, गुंडागर्दी मुक्त प्रदेश बनेगा। मैं सभी सासंदों को यूपी में आने के लिए आमंत्रित करता हूं। हम विकास का ऐसा मॉडल देंगे कि वहां के युवाओं को पलायन नहीं करना पड़ेगा। आप देखते रहिएए बहुत कुछ बंदी होने जा रही है। बहुत कुछ बंद होने जा रहा है।

संसद में बोलते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मोदी सरकार गरीबों के लिए काम करने वाली सरकार है। यह सरकार जातिए धर्म देखे बिना विकास कर रही है। यूपी सीएम ने कहा कि उत्तर प्रदेश प्रधानमंत्री मोदी के सपनों का प्रदेश होगा। उन्होंने कहा कि पहले पूर्वांचल के विकास के लिए हमारी बातें नहीं सुनी जाती थी। पूर्वी यूपी बुरी तरह से पिछड़ा हुआ था। गोरखपुर से सांसद योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा कि पिछले तीन साल में देश की अर्थव्यवस्था काफी तेजी से बढ़ी है।

आदित्यनाथ योगी ने आगे कहा कि विकास का ढांचा कैसा होना चाहिए आज दुनिया भारत से सीखती है। उन्होंने कहा कि पिछले पांच सालों में उत्तर प्रदेश में 300 से ज्यादा दंगे हुए लेकिन हमनें पूर्वी उत्तर प्रदेश में एक भी दंगा नहीं होने दिया। केंद्र सरकार की जनधन योजना को आदित्यनाथ योगी ने गरीबों की योजना बताई। इसके अलावा अपने भाषण में उन्होंने पीएम द्वारा नवंबर में की गई नोटबंदी की भी सराहना की।

भारत की टाॅप 10 सेंलिग कारों में मारूति की 6 कारें

भारत की सबसे दिग्गज कार कंपनी मारूति सुजुकी, की एक बार फिर इस साल भी टाॅप 10 में 6 कारें शामिल। मारूति सुजुकी इंडिया की घरेलू यात्री वाहन भारतीय बाजार में फरवरी महीने में मजबूत स्थिति में बनी रही। कंपनी के छह मॉडल शीर्ष 10 बिक्री मॉडल में शामिल रहे। इससे पहलेए फरवरी 2016 में शीर्ष 10 मॉडल में कंपनी के पांच मॉडल थे। फिलहाल कंपनी की बाजार में 50 प्रतिशत हिस्सेदारी है।

सोसाइटी ऑफ इंडियन आटोमोबाइल मैनुफैक्चरर्स (SAIM) के ताजा आंकड़ों के अनुसार मारूति की अल्टो मॉडल इस साल भी फरवरी महीने में नंबर एक मॉडल रही। कंपनी ने इसकी कुल 19,524 इकाईयां बेची जो फरवरी 2016 में 21,286 इकाई थी।

कंपनी की कार काम्पैक्ट सेडान डिजायर दूसरे स्थान पर रही। पिछले महीने इसकी 14,039 इकाई बिकी जो पिछले साल फरवरी में 13,888 थी। काम्पैक्ट कार वैगन आर 13,555 इकाई के साथ तीसरे स्थान पर रही। वर्ष 2016 के फरवरी महीने में भी 14,209 इकाई के साथ यह तीसरे स्थान पर थी।

हुंदै की हैचबैक ग्रांड आई10 फरवरी में 12,862 इकाई के साथ चौथे स्थान पर रही। पिछले साल फरवरी में 8,898 इकाई के साथ यह छठे स्थान पर थी। मारूति सुजुकी की स्विफ्ट पाचवें तथा हुंदै की हैचबैक एलिट आई 20 छठे स्थान पर रही। वहीं मारूति सुजुकी एसयूवी विटारा ब्रेजा सातवेंए रेनो की प्रीमियम हैचबैक क्विड आठवेंए हुंदै की एसयूवी क्रेटा नौवें तथा मारति की सिलेरियो 10वें स्थान पर रही।

पाक में 900 साल पुराने शिव मंदिर में गांधी परिवार ने कराया रूद्राभिषेक

katas_temple

भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान के एक शिव मंदिर में महाशिवरात्री की पूजा के लिए सामग्री भारत से भेजी गई है। सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी ने पकिस्तान के कटसराज में स्थित करीब 900 पुराने शिव मंदिर में शिव जी का अभिषेक करने के लिए यह सामग्री भेजी है। दिलचस्प बात यह हैं कि गांधी परिवार हर साल महाशिवरात्री के दिन पाकिस्तान के इस प्राचीन कटासराज मंदिर में पूजा सामग्री भेजती हैं।

गांधी परिवार की पूजा सामग्री को हरिद्वार की सनातन धर्म संस्था के पांच सदस्यों का दल पाकिस्तान लेकर गया है। बता दें कि इस पूजा सामग्री से महाशिवरात्री पर शिव जी का अभिषेक होगा।

sonia-gandhi-and-priyanka-650_650x400_61465830288

आखिर क्यों गांधी परिवार इस मंदिर  में भेजता है पूजा सामग्री?
पकिस्तान के कटासराज मंदिर को लेकर कई मान्यताए है। इतिहासकारों और पुरात्तव विभाग की माने तो इस स्थान को शिव नेत्र माना जाता हैं। कहा जाता है कि जब मां पार्वती सती हुईं तो भगवान शिव की आंखों से दो आंसू टपके, एक आंसू कटास पर टपका जहां अमृत बन गया और यह आज भी महान सरोवर अमृत कुंड तीर्थ स्थान कटास राज के रूप में है। दूसरा आंसू अजमेर राजस्थान में टपका जहां पुष्करराज तीर्थ स्थान है।

जगुआर ने पेश की मेड इन इंडिया XF कार

10
टाटा ग्रुप की लग्जरी यात्री वाहन इकाई जगुआर लैंड रोवर इंडिया ने नई जगुआर एक्सएफ कार भारतीय बाजार में उतारी है। इस कार की शुरूआती कीमत 47,0 लाख रूपए है। इस कार की खास बात यह है कि यह कार पूर्ण रूप से भारत में बनी है यानी की मेड इन इंडिया।

एक आॅनलाइन कार वेबसाइट के मुताबिक जगुआर लैंड रोवर की यह कार भारत में ही तैयार हुई इस कारण से यह पुराने माॅडल की तुलना में दो लाख रूपए सस्ती हैं। इस कार को आॅनलाइन या डीलरशिप के द्वारा बुक किया जा सकता है।

आइए जानते है क्या हैं इस कार में खास
नई जगुआर एक्सएफ में पेट्रोल और डीजल इंजन का विकल्प मिलेगा। पेट्रोल वर्जन में 2,0 लीटर का टर्बोचार्ज्ड इंजन दिया गया है। यह 240 पीएस की पावर और 340 एनएम का टाॅर्म देता है। डीजल वर्जन में यह कार 180 पीएस और 430 एनएम का टाॅर्क देता है। इस कार में दोनों इंजनों के साथ 8-स्पीड आॅटोमैटिक टांसमिशन दिया गया है ।

कंपनी के प्रबंध निदेशक एवं अध्यक्ष रोहित सूरी ने बताया कि जगुआर एक्सएफ में अंदरूनी स्पेस ज्यादा है। यह कार इनकंट्रोल टज प्रो जैसी कई अन्य नई तकनीक से लैस हैं। एक्सएफ कार का मुकाबला एमडब्लू 5-सीरीज, वोल्वो एस90, आॅडी ए6, जैसी कारो से है।

महाशिवरात्री आज, देशभर के शिवमंदिरो में उमड़ी भक्तो की भारी भीड़

shivratriदेवों के देव भगवान भोले नाथ की महाशिवरात्री शुक्रवार को पुरे देश में धूम-धाम से मनाई जा रहीं हैं। महाशिवरात्री तीनों लोकों के मालिक भगवान शंकर का सबसे बड़ा त्योहार होता हैं। इस त्यौहार को मनाने के लिए देशभर के शिव मंदिरों में सुबह से ही भक्तों की भारी भीड़ देखने को मिल रही है। कहा जाता है कि इस दिन कोई भी भक्त अगर सच्चे दिल से भगवान शिव की पूजा करे तो भगवान भक्त पर प्रसन्न हो जाते है और उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी कर देते हैं।

l

कैसे प्रसन्न करे भगवान शिव शंकर को
कहा जाता हैं कि भगवान शिव अपने भक्तों पर बहुत जल्द ही प्रसन्न हो जाते है। इसलिए आज हम आप को भगवान शिव का क्या अर्पित कर आप उनको खुश कर सकते हैं। –

दूध – भगवान शिव को महाशिवरात्री के दिन दूध से नहलाया जाता हैं। दूध चढ़ाने को लेकर मान्यता हैं कि दूध चढ़ाने से भक्त और भक्त के परिवार का स्वास्थ ठीक रहता है और उसके घर में समृद्धि बनी रहती हैं। वहीं दूध में हल्दी मिलाकर चढ़ाने से संतान की प्राप्ति होती है ।

जल- भगवान शिव को एक लोटा जल चढ़ाने को लेकर मान्यता है कि भोले भंडारी जल चढ़ाए जाने से प्रसन्न हो जाते है और भक्तों को आर्शीवाद देते हैं । कहा जाता है कि समुद्र मंथन के दौरान विष निकला था। जिसे भोलेनाथ ने पिया था। इस वजह से उनका पूरा शरीर नीला पड़ गया था। इसी वजह से उनको जल चढ़ाया जाता है।

बिल्वपत्र – शास्त्रों में बिल्वपत्र के महत्व को बताया गया हैं। कहा जाता है कि बिल्वपत्र भगवान शिव की तीसरी आंख है। महाशिवरात्री पर इस पत्र को चढ़ाने से भगवान खुश होते हैं और इससे धन की प्राप्ति होती है।

धतूरा – भोलेनाथ को धतूरा बहुत पसंद है। धतूरा बहुत गर्म होता है। यह शरीर में गर्मी बनाए रखता है। धतूरे को पूजा करते वक्त जरूर चढ़ाए।

mahashivratri-date-and-time
महाशिवरात्री के दिन करे इन मंत्रो का जाप

ॐभोलेनाथ नमः
ॐ ज्योतिलिंग नमः
ॐ महाकाल नमः
ॐ बर्फानी बाबा नमः
ॐ जगतपिता नमः
ॐमृत्युन्जन नमः
ॐ नागधारी नमः
ॐ रामेश्वर नमः
ॐ लंकेश्वर नमः
ॐ चंद्रधारी नमः
ॐ मलिकार्जुन नमः
ॐ भीमेश्वर नमः
ॐ विषधारी नमः
ॐ बम भोले नमः
ॐओंकार स्वामी नमः
ॐ ओंकारेश्वर नमः
ॐशंकर त्रिशूलधारी नमः
ॐ विश्वनाथ नमः
ॐ अनादिदेव नमः
ॐ उमापति नमः
ॐगोरापति नमः
ॐ गणपिता नमः
ॐ भोले बाबा नमः
ॐ शिवजी नमः
ॐशम्भु नमः
ॐनीलकंठ नमः
ॐ महाकालेश्वर नमः
ॐ त्रिपुरारी नमः
ॐ त्रिलोकनाथ नमः
ॐ त्रिनेत्रधारी नमः                                                                                                                                                          ॐअमरनाथ नमः
ॐ केदारनाथ नमः
ॐ मंगलेश्वर नमः
ॐ अर्धनारीश्वर नमः
ॐ नागार्जुन नमः
ॐ जटाधारी नमः
ॐनीलेश्वर नमः
ॐ गलसर्पमाला नमः
ॐ दीनानाथ नमः
ॐ सोमनाथ नमः
ॐ जोगी नमः                                                                                                                                                                    ॐ नटराज नमः
ॐ प्रलेयन्कार नमः
ॐ चंद्रमोली नमः
ॐ डमरूधारी नमः                                                                                                                                                   ॐ कैलाश पति नमः
ॐ भूतनाथ नमः
ॐ नंदराज नमः                                                                                                                                                              ॐ रुद्रनाथ नमः
ॐ भीमशंकर नमः

 

 

बिहार में नए मुख्यमंत्री की मांग

देशभर के अलग-अलग राज्य में चल रहीं गठबंधन सरकारों के जारी ख़ीचतान के बीच बिहार में नए मुख्यमंत्री को नया विवाद खड़ा हो गया हैं। दरअसल, बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने अपने छोटे बेटे तेजस्वी को बिहार का नया मुख्यमंत्री बनाए जाने को लेकर बड़ा बयान दिया है। राबड़ी देवी ने कहा कि अगर प्रदेश की जनता तेजस्वी को मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहती हैं तो वह जरूर मुख्यमंत्री बनेगें। उधर जेडीयू विधायक श्याम रजक ने राबड़ी देवी के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि अभी कोई वैकेंसी खाली नहीं हैं।

tejasvi-yadav

क्या हैं पूरा मामला ?
दरअसल पिछले दिनों राजद विधायक सुरेंद्र यादव, मंत्री चंद्रशेखर और अन्य पार्टी नेताओं ने राजद के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के सामने ही तेजस्वी को सीएम बनाए जाने की मांग की हैं। हालांकि बाद में हाजीपुर में पत्रकारों से बात करते हुए लालू ने तेजस्वी को बिहार का भविष्य का मुख्यमंत्री बताया। लालू ने कहा कि क्योंकि वह अब बूढ़े हो चुके हैं। गौरतलब है कि बिहार विधान सभा का बजट सत्र शुरू होने से पहले गुरूवार को महागठबंधन के विधायकों की बैठक में शामिल होने के लिए पहुंची राबड़ी ने पत्रकारो के सवालों का जवाब देते हुए तेजस्वी को मुख्यमंत्री बनाए जानें की बात कहीं ।

जेडीयू ने दिया जवाब

राबड़ी देवी के बयान के बाद जब पत्रकारों ने जनता दल यूनाइटेड के नेता और पूर्व मंत्री श्याम रजक से पूछा तो उन्होंने टिप्पणी करने से इनकार करते हुए कहा कि फिलहाल कोई वैकेंसी नहीं हैं। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में अभिव्यक्ति की सबकों स्वतंत्रता है। फिलहाल महागठबंधन के नेता मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ही हैं।

लालू नेे दिया अखिलेश का उदाहरण
लालू ने अपने बूढ़े होने का उदाहरण देते हुए कहा कि जिस प्रकार उत्तर प्रदेश में मुलायम सिंह ने अपने बूढ़े हो जाने के बाद अखिलेश को यूपी का नया मुख्यमंत्री बनाया था। उसी प्रकार समय आने पर तेेजस्वी भी बिहार में मुख्यमंत्री बन सकते है।

डोरमैट पर तिंरगा देख भड़की सुषमा स्वराज, अमेजॉन को माफी मागंने की दी चेतावनी

sushma-swaraj

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अमेजन कनाडा पर तिरंगा की तस्वीर वाली डोरमैट (पायदान) बेचे जाने पर सख्त ऐतराज जताया है। उन्होंने ट्वीट्र के माध्यम से इस मामले को संज्ञान में लिया और ट्वीट कर अपने गुस्से का इजहार किया। विदेशमंत्री ने अमेजन से तुरंत प्रभाव से इसकी बिक्री पर रोक लगाया जाये और उन्होंने कंपनी से बिना शर्त माफी मांगने को भी कहा हैं।

दरअसल, अमेजन कंपनी कई दिनों से कनाडा में आॅनलाइन भारतीय तिरंगा की तस्वीर वाली डोरमैट (पायदान) बेच रही हैं। लेकिन बुधवार को एक व्यक्ति ने सुषमा स्वराज को एक ट्वीट कर पूरे मामले की जानकारी दी । जिसके बाद स्वराज ने तुरंत कनाडा में रह रहे भारतीय उच्चायोग को पूरे मामले को जल्द से जल्द खत्म करने को कहा। उन्होंने ने एक अन्य ट्वीट् कर कंपनी से बिना शर्त माफी मागंने को भी कहा हैं ।

विदेश मंत्री ने एक अन्य ट्वीट् कर कंपनी से भारतीय झंडे का अपमान करने वाली सभी उत्पादों को वापस लेने को कहा हैं । साथ ही उन्होंने कहा कि अगर कंपनी ने ऐसा नहीं किया तो कंपनी के सभी अफसरों को भारतीय वीजा नहीं मिलेगा और पहले से जारी किया हुआ वीजा भी रद्द कर दिया जायेगां।