महाशिवरात्री आज, देशभर के शिवमंदिरो में उमड़ी भक्तो की भारी भीड़

shivratriदेवों के देव भगवान भोले नाथ की महाशिवरात्री शुक्रवार को पुरे देश में धूम-धाम से मनाई जा रहीं हैं। महाशिवरात्री तीनों लोकों के मालिक भगवान शंकर का सबसे बड़ा त्योहार होता हैं। इस त्यौहार को मनाने के लिए देशभर के शिव मंदिरों में सुबह से ही भक्तों की भारी भीड़ देखने को मिल रही है। कहा जाता है कि इस दिन कोई भी भक्त अगर सच्चे दिल से भगवान शिव की पूजा करे तो भगवान भक्त पर प्रसन्न हो जाते है और उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी कर देते हैं।

l

कैसे प्रसन्न करे भगवान शिव शंकर को
कहा जाता हैं कि भगवान शिव अपने भक्तों पर बहुत जल्द ही प्रसन्न हो जाते है। इसलिए आज हम आप को भगवान शिव का क्या अर्पित कर आप उनको खुश कर सकते हैं। –

दूध – भगवान शिव को महाशिवरात्री के दिन दूध से नहलाया जाता हैं। दूध चढ़ाने को लेकर मान्यता हैं कि दूध चढ़ाने से भक्त और भक्त के परिवार का स्वास्थ ठीक रहता है और उसके घर में समृद्धि बनी रहती हैं। वहीं दूध में हल्दी मिलाकर चढ़ाने से संतान की प्राप्ति होती है ।

जल- भगवान शिव को एक लोटा जल चढ़ाने को लेकर मान्यता है कि भोले भंडारी जल चढ़ाए जाने से प्रसन्न हो जाते है और भक्तों को आर्शीवाद देते हैं । कहा जाता है कि समुद्र मंथन के दौरान विष निकला था। जिसे भोलेनाथ ने पिया था। इस वजह से उनका पूरा शरीर नीला पड़ गया था। इसी वजह से उनको जल चढ़ाया जाता है।

बिल्वपत्र – शास्त्रों में बिल्वपत्र के महत्व को बताया गया हैं। कहा जाता है कि बिल्वपत्र भगवान शिव की तीसरी आंख है। महाशिवरात्री पर इस पत्र को चढ़ाने से भगवान खुश होते हैं और इससे धन की प्राप्ति होती है।

धतूरा – भोलेनाथ को धतूरा बहुत पसंद है। धतूरा बहुत गर्म होता है। यह शरीर में गर्मी बनाए रखता है। धतूरे को पूजा करते वक्त जरूर चढ़ाए।

mahashivratri-date-and-time
महाशिवरात्री के दिन करे इन मंत्रो का जाप

ॐभोलेनाथ नमः
ॐ ज्योतिलिंग नमः
ॐ महाकाल नमः
ॐ बर्फानी बाबा नमः
ॐ जगतपिता नमः
ॐमृत्युन्जन नमः
ॐ नागधारी नमः
ॐ रामेश्वर नमः
ॐ लंकेश्वर नमः
ॐ चंद्रधारी नमः
ॐ मलिकार्जुन नमः
ॐ भीमेश्वर नमः
ॐ विषधारी नमः
ॐ बम भोले नमः
ॐओंकार स्वामी नमः
ॐ ओंकारेश्वर नमः
ॐशंकर त्रिशूलधारी नमः
ॐ विश्वनाथ नमः
ॐ अनादिदेव नमः
ॐ उमापति नमः
ॐगोरापति नमः
ॐ गणपिता नमः
ॐ भोले बाबा नमः
ॐ शिवजी नमः
ॐशम्भु नमः
ॐनीलकंठ नमः
ॐ महाकालेश्वर नमः
ॐ त्रिपुरारी नमः
ॐ त्रिलोकनाथ नमः
ॐ त्रिनेत्रधारी नमः                                                                                                                                                          ॐअमरनाथ नमः
ॐ केदारनाथ नमः
ॐ मंगलेश्वर नमः
ॐ अर्धनारीश्वर नमः
ॐ नागार्जुन नमः
ॐ जटाधारी नमः
ॐनीलेश्वर नमः
ॐ गलसर्पमाला नमः
ॐ दीनानाथ नमः
ॐ सोमनाथ नमः
ॐ जोगी नमः                                                                                                                                                                    ॐ नटराज नमः
ॐ प्रलेयन्कार नमः
ॐ चंद्रमोली नमः
ॐ डमरूधारी नमः                                                                                                                                                   ॐ कैलाश पति नमः
ॐ भूतनाथ नमः
ॐ नंदराज नमः                                                                                                                                                              ॐ रुद्रनाथ नमः
ॐ भीमशंकर नमः

 

 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s